Category Archives: Story

Jindagi part 5

खुशी अस्पताल थीं उसके बड़े बेटे का बुरी तरह एक्सिडेंट हुआ था । वो ना चल पा रहा था ना हिल पा रहा था ना बोल पा रहा था सिर्फ उसकी आंखे खुली थीं और वो बिस्तर पर पड़ा था । 16 साल का उसका बेटा 10 वी के इम्तिहान देकर लौट रहा था और… Read More »

JINDGI (Part 4

पूरी रात इस सिलसिले में ही गुज़र गई , अगली सुबह वो फिर वॉक के लिए निकला वह चाहें या ना चाहें उसके कदमों को तो उसी रास्ते से जाना था कदम कब उस रास्ते की ओर मुड़ते चले गए इसकी ख़बर कदमों को ना हुई तो उसे क्या होती । आंखों को भी गुस्ताखी… Read More »

JINDGI (PART 3)

कोई तो बात थी उन दोनों में और उस मुलाकात में वरना , पहली बार मिलने पर तो ऐसा नहीं होता, ना इतना कुछ होता तो शायद ये कोई भगवान का ही करिश्मा था।   वो उसे स्कूल के दरवाज़े पर छोड़ कर वापस आ गैर और दोबारा अपने इस्त्री के काम में व्यस्त हो… Read More »

Jindgi ( part 2)

वो सुबह उसमे जोश भर गई कल की रात जिंदगी की सबसे डरावनी रात थीं । हम अपने डर, दुख , दर्द को अपने ऊपर हावी भी होने दे सकते हैं और चाहें उस पर काबू कर उसे अपनी ताकत बना सकते हैं। उसने पिछली रात जो कुछ झेला , महसूस किया वो ये सब… Read More »

shimla ki haseen wadiyan

शिमला के हसीन वादियों का क्या कहना खासकर जब गर्मी जाने वाली हो और ठंड की दस्तक हो रही हो रीमा अपनी सुबह की चाय और अखबार लिए हुए बाहर अपने गार्डन में आई । क्या हसीन नज़ारा है ओंस कि बूंदे हरी घास पे मोतियों की तरह चमक रही थी । सूरज की रोशनी… Read More »

Inner Voice – a person inside you.

Inner voice – A person inside you. Hey, let’s talk to ourselves today! so you, oh yes you “Have you ever seen yourself? How do you look? The body is thin, there is blackness under the eyes, there is little income, neither the appearance is very good, nor is there shining hairs. There are four… Read More »

DIARY

    वह एक बारिश की रात थी। बारिश का जोर इतना ज्यादा तो नही था, लेकिन किसी शख्स को भीगा दे, हां उतनी बारिश तो थी। मेन रोड पे बारिश के कारण काफी ट्राफिक लगी हुई थी।     उसी मेन रोड की बगल में एक cafeteria के बाहर रौनक अपना छाता लेकर खड़ा था। उसने… Read More »

Covid or Poverty?

<Starting Speech> The country was facing an economic crisis after the arrival of the Corona epidemic. People were dying everywhere, but was this disease is the only reason for killing everyone? No! Where some people in the country were losing their lives fighting this disease, there were many people like this too. Who might have… Read More »

JINDGI

जिंदगी किसी के लिए एक किताब हैं हमें उसे पढ़ना ही पड़ता हैं, जिंदगी किसी के लिए एक सफ़र है उसे बिताना ही पड़ता हैं, जिंदगी एक बाग हैं उसमें कांटे भी हैं और कहीं जंगली घास भी तो कहीं जिंदगी को महकाते गुलाब भी हैं। आप की जिंदगी आपके लिए चाहें कुछ भी हो… Read More »

खाली जेब और संघर्ष

खाली जेब और संघर्षVoice over सन 1980 में दिल्ली के पटपड़ मैं हुआ घर में खुशियों का माहौल था क्योंकि सरना खानदान में पहला वरीस था जो हुआ था। घर बड़े जोर शोर से अपने खानदान के बेटे का स्वागत किया और उसका नाम जतिन रखा जतिन शुरुआत से जैसे-जैसे बड़ा होता गया फाइनेंस को… Read More »